चाँद ग्रहण को लेकर झूठे रस्म ओ रिवाज़ में ना पड़े-सतीश जारकिहोली कब्रिस्तान में बैठ कर किया चिंतन बैठक….

0
206
- Advertisement - Niyaaz Ad

एमएलए सतीश जारकिहोली ने गलत रस्म ओ रिवाज़ के खिलाफ पिछले कई सालोँ से तहरीक चलायी है.इनका कहना है के ख़ुसूसन हिन्दू धर्म में बहोत सारे गलत रस्म ओ रिवाज़ है जिसमे फ़िज़ूल अवाम अपना वक़्त सर्फ़ करती है.ना सिर्फ वक़्त ,ढोंगी बाबाओं के चक्कर में आकर पैसा रूपया भी गँवा बैठती है.लिहाज़ा चाँद ग्रहण एक कुदरती हरकत है जिसे लेकर मआशरे में गलत फहमियां फैलाई जाती है. जिससे लोगों में डर खौफ का माहौल बना हुआ है.इसी मद्देनज़र सतीश जारकिहोली ने सदाशिव नगर कब्रिस्तान (स्मशान) में चाँद ग्रहण के रात चिंतन बैठक की और उसी जगह पर बैठ कर नाश्ता भी फ़रमाया.मानव बन्धुत्वा मंच की जानिब से अंधश्रद्धा निर्मूलन याने रस्म ओ रिवाज़ के बारे में अवाम में बेदारी मुहीम चलायी गयी है.
ढोंगी साड़ुओं का दौर जारी है और कुछ धर्म के ठेकेदार बन कर ऐसे वक़्त में याने ग्रहण के वक़्त में अपने फायदे के लिए गलत फहमिया फैला देते है.गलत फ़हमियों को दूर करने के लिए साइंसी बेदारी को आम करना होगा.सतीश जर्कीहोलली और साथियों बैठ कर वही नाश्ता किया ताके लोगों में ये पैगाम चला जाय के कब्रिस्तान में भूत पिशाच नहीं होते.ख्वामख्वाह डर खौफ रखने की ज़रूरत नहीं है.खास कर अवाम में ये बाते ढोंगी बाबाओं की जानिब से फैलाई जाती है के ग्रहण के वक़्त घरों से बहार ना निकले,ग्रहण को ना देखे.हामिला औरतों को कोई काम नहीं करना चाहिए,लेकिन यह झूट है ऐसा इन्होने कहा.

Niyaaz Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here