मतीन की दिल को छू लेनेवाली मौत…इंतकाल पर आज़ाद नगर में मातम का माहौल..

0
349
- Advertisement - Niyaaz Ad

मतीन अब्दुर्रहमान उर्फ़ मुन्ना सवनूर का सिर्फ उम्र की 19 बरस में मौत हो गयी जिससे पुरे आज़ाद नगर में अफ़सोस ओ गम का माहौल देखा गया.आज़ाद नगर के पांचवे क्रॉस में मुकीम मतीन सवनूर एक निहायती शरीफ ओ मासूम लड़का था जो बचपन से ही सभी के साथ मुस्कुरा कर बात करता था.आज बरोज जुमा 5 पांच बजे इंतकाल पर सभी ने अफ़सोस का इजहार किया.
मतीन सवनूर अब्दुर्रहमान उर्फ़ मुन्ना सवनूर के इकलौते फ़रज़न्द. मुन्ना सवनूर का बैटरी का कारोबार है और अपने वालिद के साथ अक्सर दुकानमें बैठा करता था.और हमेशा वालिद  और फ़रज़न्द साथ ही रहा करते थे.वालिद मुन्ना सवनूर भी एक नेकदिल इंसान है.आज एकलौते फ़रज़न्द के इंतकाल पर इनपर मातम का पहाड़ टूट पड़ा है.माँ का हाल तो बिलकुल बेहाल हुआ था और अस्पताल से मय्यत को घर लाने का मंज़र तो सभी की आँखों में आंसू लानेवाला था.माँ को तो होश ही नहीं था क्यों के एकलौता लाडला आज खालिक ए हकीकी को मिलने गया.
हासिल इत्तेला के मुताबिक़ कुछ दिनों से मतीन सवनूर को हलकी बुखार थी पर ओ बुखार डेंगू की थी जब अस्पताल में दाखिल किया गया तो मतीन बेहोश हो गया.तक़रीबन पच्चीस दिन तक ज़ेरे इलाज रखा गया.दरअसल मतीन कोमा में था.होश में आने का इंतज़ार किया जा रहा था.महंगी दवाइयां भी दी जा रही थी.घर का हर फर्द परेशान था.लिहाज़ा आखिर जुमा 15 तारीख को असर के वक़्त मासूम मतीन के ज़िन्दगी की शमा बुझ गयी.इंतकाल की खबर पर आज़ाद नगर गम ओ अफ़सोस में डूब गया.जनाज़े की नमाज़ रात ग्यारह बजे नूरानी मस्जिद इहाते में अदा की गयी.सेंकडो की तायदाद में लोगों ने जनाज़े में शिरकत फ़रमाई .अंजुमन कब्रिस्तान में मद्फ़न के फ़राइज़ अंजाम दिए.
अल्लाह तआला से दुआ है के मरहूम को जन्नत उल फिरदौस में जगह आता फरमाए. और घरवालों को सब्र ए जमील अत फरमाए.

Niyaaz Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here