आज़ाद नगर हादसा- आखिर ज़िम्मेदार कौन…? क्या अमीरज़ादे के गुनाह माफ़..?

0
166
who is responsibal for accident(ittehad news)
- Advertisement - Niyaaz Ad

आज़ाद नगर में रहनेवाली तहनीयत वाहिद बीशती का कार हादसे में इंतकाल हुआ.ज़ाहिर है जब कभी ऐसा हादसा होता है तब भीड़ गुस्से में आकर पिटाई भी करती है और गाडी भी जलाती है.और आजकल तो मोब लिंचिंग की खबर आये दिन देखि सुनी जाती है.इसका मतलब यह कतई नहीं है के मारपीट की वारदात की हिमायत की जाय.इस बात को भी गलत ही कहा जाएगा के जब एक्सप्रेस हाईवे है तो सडकपर करनेवालों को सोच समझ कर हाईवे पर करना पड़ेगा.कुछ लोगों ने दो सड़क के किनारे बिठाये लोहे के ग्रिल इस लिए तोड़े है ताके इसतरफ या उस्तराफ आसानी से आतेजाते रहे खास कर कुछ गरेजवालों ने हिफ़ाज़ती ग्रिलों की तोड़फोड़ की है ताके उज्वल नगर या अम्बालि मार्किट से आज़ाद नगर में आसानी से आते जाते रहे या आज़ाद नगर कीतरफ जो खास कर सागर होटल या अंजू होटल में चाय के लिए बार बार आते जाते रहते है. .कुछ लोग एहतियात करते है तो कुछ लोग इसी को रोजमर्रा की सड़क समझ कर गुजरते है और हादसे का शिकार हो जाते है.अब तक तक़रीबन आठ से दस हादसे हुए है.कई बार अंडर पास के लिए भी मुतालबे पेश किये है पर अब तक अमल नहीं हुआ है.खैर मामला हाल ही में पेश आये तहनीयत बीश्ती का जो महज अठरह साल की उम्र में दुनिया से चल बसी.क्या सड़क के उस तरफ जाना सही था या नहीं,क्या हाईवे से तेज़ रफ़्तार गाड़ियां चलती रहती है तो इस सड़क से उस तरफ जाना दुरुस्त था या नहीं बहस का मौजू हो सकते है.पर बीएमडब्लू चालक एक एमएलए का लड़का था इसलिए उस पर हर लिहाज़ से माफ़ी दे देना दुरुस्त है.जिस तरह पुलिस मुहकमा और बेलगाम शहर के एमएलए एमपी आओ भगत में लगे हुए थे उन्हें किसी तरह की परवा ही नहीं थी के एक गरीब ऑटो ड्राइवर की लड़की ने इस अमीरज़ादे की कार के निचे अपना दम तोड़ दिया है.गोवा के एमएलए ग्लेन टिकलो के लाडले फ़रज़न्द काइल ग्लेन है जिनका कलंगुट में होटलों का कारोबार है .इस पर भी एफआईआर दाखिल किया गया है.
जब कार से तहनीयत को ठोकर मारी गयी तो काइल ग्लेन सूतरिया के वर्कशॉप में छिप गया,भीड़ तो गुस्से में थी और इसी का रद्दे अमल ये रहा के कार को जलाने की कोशिश की गयी.खैर ताज्जुब तो ये भी है के अमीरज़ादे ग्लेन जो भाजपा एमएलए है फ़रज़न्द है बेलगावी भाजपा के एमएलए,एमपी इसकी इस तरह आओभगत कर रहे थे जैसे किसी की शादी में तशरीफ़ लाया हो वैसे.अमीरज़ादे काइल ग्लेन टिकलो तो आराम से मोबाईल पर चैटिंग करते देखा गया उसके साथ कोई तेलगू फ़िल्मी अदाकार होने की बात कही जा रही थी.क्यों के जब हादसा हुआ तो उसवक साथ में एक लड़की भी थी जो उसकी गर्लफ्रैंड कहा जा रहा था.
फ्रूट मार्केट के पास हादसे के बाद तहनीयत और उसकी बहन जो ज़ख़्मी हुयी थी लेक्वीेव अस्पताल में भर्ती किया गया था तो तहनीयत की मौत जगह पर होने की बात डॉक्टरों ने कही तो समरीन बीश्ती को ज़ेरे इलाज रखा गया. अपनी लाड़ली बेटी की कुछ लम्हों में हुयी मौत का सदमा वालिदैन बर्दाश्त नहीं कर पा रहे थे.दहाड़े मार कर रोती माँ-बहने और तहनीयत का बाप वाहिद का मंज़र बड़ा ही ग़मज़दा था.इस मंज़र को देख अस्पताल के सामने खड़े लोगों की आँखों में भी पानी आगया.आज़ाद नगर हादसे ने कई सवालों को खड़ा किया है आखिर बार बार होनेवाले हादसों के लिए कौन ज़िम्मेदार..?जब के एक्सप्रेस हाईवे पर रफ़्तार धीमी करने का सवाल ही नहीं उठता.अवाम का कहना है के आज़ाद नगर से उज्वल नगर ,गाँधी नगर की तरफ या उस तरफ आनेजाने के लिए अंडर पास को फौरी तौर पर अंजाम दिया जाय.हादसा किसी से भी हो सकता है.अगर कोई मोटर बाइक या ट्रकवाला करता है तो उसे अवाम भी और पुलिस भी घसीट कर डंडे लगाते पुलिस ठाणे ले जाती है.और अगर वही कोई आलीशान गाड़ीवाला आमिर ज़ादा है तो जी सर,हाँ सर का मामिला होता है.बैठने के लिए कुर्सियां दी जाती है,चाय ठंडा पूछा जाता है.जब के ओ एक मुजरिम है. अवाम यही सवाल कर रही है के क्या अमीरज़ादे गुनाह माफ़ हो जाते है…?

Niyaaz Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here